Sad Shayari

Top love Hindi Shayari लव हिंदी शायरी Best shayari | shayari in hindi

 Best Love Shayari in Hindi and English Font: If you want to get the best love shayari and share it with your friends then We are providing Latest Collection of best result of all time for love shayari in hindi these love shayari are 100% unique and written by our best .

Best Top 10+ love shayari in hindi Best hindi with romantic shayari

सोचा था तड़पायेगे  हम उन्हें 
किसी और का नाम लेके जलायेगे 
उन्हें फिर सोचा मैंने उन्हें तड़पके 
दर्द मुझको ही होगा तो फिर भला 
किस तरह सताए हम उन्हें 


दिन हुआ है तो रात भी होगी 
मत हो उदास उससे कभी बात 
भी होगी वो प्यार है ही इतना
प्यारा जिनगी रही तो मुलाकात 
              भी होगी  


वो बिछड़ के हमसे यूँ  दूरियां कर गई 
न जाने क्यों  ये मोहब्बत अधूरी कर गई 
अब हमें तन्हाइयां चुभती है तो क्या हुआ 
कम से कम उसकी सारि तांत्रिकाय  तो पूरी
                       हो गई


अब तो वफ़ा करने से मुकर जाता है दिल 
अब तो इश्क के नाम से डर जाता है दिल 
अब किसी दिलासे की जरूरत नहीं है 
क्योकि अब हर दिलासे  से भर गया है दिल 


होल होल कोई याद आया करता है 
कोई मेरी हर सांसो को महकाया करता है 
उस अजनबी का हर पल शुक्रिया अदा करते है 
जो इस नाचीज को मोहब्बत सिखाया करता है 


अब तेरे बिना जिंदगी गुजारना मुमकिन नहीं है 
अब और किसी को इस दिल मैं बसना आसान नहीं है 
 हम तो तेरे पास कब के चले आये होते सब कुछ छोड़ 
कर लेकिन तूने कभी हमे दिल से पुकारा ही नहीं है 


मंजिल भी उसकी थी रास्ता भी उसका था 
एक मैं ही अकेला था बाकि सारा काफिल  
भी उसका था एक साथ चलने की सोच भी 
उसकी थी और बाद मैं रास्ता बदलने का 
           फैसला भी उसी का था   



अब मोहब्बत नहीं रही इस ज़माने मैं 
क्योकि लोग अब मोहब्बत नहीं मजाक 
किया करते है इस ज़माने मैं 


चिंगारी का खौफ न दिया करो हमें 
हम अपने दिल मैं दरिया बहाय बैठे है 
अरे हम तो कब का जल गय होते इस 
आग मैं लेकिन हमतो खुद को आंसुओ 
             मैं भिगोये बैठे है


जिनगी मैं शिकवा नहीं उसने गम का 
आदी  बना दिया गिला तो उनसे है 
जिन्होंने रोशनी की उम्मीद दिखा के 
दिया ही बुझा दिया 


दिल का क्या है तेरी यादों के सहारे जी लेगा 
हैरान तो आँखें है तड़पती है तेरे दीदार को 


हो ही नहीं सकता की ये इश्क का कमाल 
न हो सुबह उठकर आये वो जब उनकी आखे 
                   लाल न हो 
  

चिराग से न पूछो बाकि तेल कितना है 
सांसो से न पूछो बाकि खेल कितना है 
पूवो उस कफ़न मैं लिपटे मुर्दे से 
जिंदगी मैं गम और कफ़न  चैन कितना है 



क्यूँ नहीं महसूस होती उसे मेरी तकलीफ 
जो कहते थे बहुत अच्छे  से जानते है तुझे 
जो वहले थे हमारे लिए बुझ रहे है वो सरे दिए 
कुछ अंधेरों की थी साजिशे कुछ उजालों ने धोखे दिए 



दोस्तों की कमी को पहचानते है हम 
दुनियां के गमों को भी है जानते हम 
आप जैसे दोस्तों के ही सहारे आज भी 
हसकर जीना जानते है 


जरूरी तो नहीं जो ख़ुशी देउसी से प्यार 
हो क्योकि सच्ची मोहब्बत अक्सर दिल 
तोड़ने वाले से होती है  


अपने गम की तू नुमाइस न कर 
अपने नसीब की यु आजमाइस न कर
जो तेरा है वो खुद तेरे दर पे चल के आएगा 
रोज उसे पाने की ख्वाहिस न कर  

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close