page contents
Romantic shayari

Best Romantic Love Shayari For Husband in Hindi 2020

Romantic Love Shayari For Husband in Hindi

+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0

Romantic Love Shayari For Husband in Hindi  Beautiful Romantic Love Shayari for Husband in Hindi from Wife. Cute Love Messages, Miss you status, you are my life hubby quote.

Romantic Love Shayari For Husband in Hindi

Personal Vlog YouTube Thumbnail 4 - Best Romantic Love Shayari For Husband in Hindi 2020
Romantic Love Shayari For Husband in Hindi

इक आस, इक एहसा, मेरी सो और बस बस,
एक देखा, एक प्रकार का वृक्ष, तुम्हार ख्याल या बीएस,
एक बाट, एके शम, तुम्हरा साथ या बस तू,
एक दुआ, इक फ़रियाद, तुम्हारी यार या बस तू,
मेरा जूनून, मेरा सुकून बस तू या बस तू

 

जिस दिन आप किसी के प्यार में पड़ जाते हैं,
आपको लगता है कि आपके जीवन का सबसे खुशी का दिन है,
लेकिन वास्तविक रूप में आप सबसे कमजोर व्यक्ति बन जाते हैं
जो किसी के बिना नहीं रह सकता .. !!

 

सोचकर तुझे निखरने लगी हूँ मैं
बिना आईने के संवरने लगी हूँ मैं

 

तेरी मोहब्बत का मुझपे ​​ऐसा असर हुआ
कोमल सी साँसों में उतरने लगी हूँ मैं

 

सुनाई दे रही है हर तरफ तेरी आहट
चलते चलते अब आगे बढ़ गए हैं

 

हैरान हूँ मैं, अपनी इस परिस्थिति पर
शायद अब तुम प्यार करने लगी हो मैं

“Romantic Love Shayari For Husband in Hindi”

मेरी आँखें ले लो, लेकिन मुझे तुमको देखने दो,
मेरा मन ले लो लेकिन मुझे तुम्हारे बारे में सोचने दो
मेरा हाथ ले लो लेकिन मुझे तुम्हें छूने दो
लेकिन मेरा दिल लेने की कोशिश मत करो
क्योंकि इसके पहले से ही आपके साथ…। !!

 

ऐ दिल का कहो मन एक काम कर दो ।।
एक होना-नाम सी मोहब्बत मेरे नाम करदो
मेरी ज़ात पार फ़क़त इतना एहसान कर दो ।।
किसि दिन सब को मिल्यो, या शम कर दो .. !!

 

मैंने कभी खोजा नहीं लेकिन मैंने तुम्हें पाया
मैंने कभी नहीं पूछा लेकिन आपके पास है
मैंने कभी किसी चीज की कामना नहीं की, लेकिन यह सच है
मैं सिर्फ भगवान को धन्यवाद देना चाहता हूं
मुझे आप जैसी प्यारी बीवी देने के लिए ..!

 

आगर मुख्य में ग्वार जौ तोह मुजे माफ़ करना था,
तेरे दिल में उर जाऊ तो ​​मुजे माफ करना,
राते में तुझ दे खें तेरे दीदार की खातिर,
पाल भर जो थेर जाऊँ तो मुजे माफ़ करना … !!

 

आपको मुस्कुराने के लिए,
मैं कई मील पैदल चलूंगा।
आपको बात सुनने के लिए,
सौ मील चलूंगा।
अपने हाथ को छूने के लिए,
मैं सात समुद्रों और भूमि को पार कर जाऊंगा।
तुम मेरे प्यार, जीवन हो
और सब कुछ जो मेरा अपना है। बीवी

 

तेरे हाथ की मुख्य वू लेकर बन जाऊं,
सरफ मेन हाय तेरा मुक़दर तेरी ताकादेरे बन जौन,
मुख्य तुझे इतना चहो तू भुले जाय हर रिशता
सरफ मेन हाय तेरे हर रिश्तो में तश्वीर बन जाऊं,
तू आखिन बैंड करे से आउन मुख्य हाय नज़ार,
ईएस तराह मेन तेरे हर खवाब की तबीर बन जाऊ।

 

प्यार एक बादल की तरह है, प्यार एक सपने की तरह है
प्यार एक शब्द और बीच में हर बात है
प्रेम कथा साकार है
क्योंकि जब मैंने तुम्हें पाया तो मुझे प्यार मिला ..!

 

सावल कुच भी हो, जौब तुम ही हो
रस्ता कोइ भी हो, मंज़िल तू ही हो
दुख कीन्हा हाय हो, ख़ुशी तुम ही हो
अरमान किटने भी हो, आरज़ू तुम ही हो
गुस्ता कीना हो, प्यार तू ही हो,
ख्वाब कोई भी हो, हमें तुम ही हो
क्यूंकी तू ही हो… !! अब तुम ही हो,
मेरी आशिकी अब तुम ही हो…। !!!!!

 

अगार तुम कहो तोह मुख्य फूल बन जौ
ज़िन्दगी का ठुमरी इक इक बेकार बन जाऊ

 

सुन ह क रत सम चलन स म मम जक ज
कहउ तोह अबके जमीन के धुल ही बन जाउ

 

नयब ह वों लोग जिनहे तुम अपना के हो
इज़ाज़त करते हैं मुख्य bhi निबंध qadar अनमोल प्रतिबंध जौ

 

सिरफ मेरि हि नाज़रे हो हमशा अनपे
कोइ और आंखे अनका देवदार न करे
मेरी मुहब्बत की हो शिद्दत इत्तिनी गेहरी
K bhool se b voice kisi aur se ishq na kare

“Romantic Love Shayari For Husband in Hindi”

खामोश मुहब्बत का इहसास है वो,
मेरे ख्वाहिश मेरे जज्बात है वो,
अकार ये ख्याल क्यूं है ऐ दिल है,
मेरी प्लीज़ ख़ोज या आखिरी तराश है वो

अगार ठाक जाउ कभी तोहि कसम
हम उतें लागे तुमको बन्ने में
आप एक बर प्यार करे तो देखो हमसे
हम खुशियां बिछा डेंगी आप रहन में

 

अनके सेनन मी कबि झनक कार देखो से साहि
किटना रोते हैं तन्हाई मैं औरों को हंसने वाले।

 

सिरफ प्रेमी ही न होते जो एक दुसरे को खोना नहीं चते,
कुच्छ हम जायस भी होते हैं जिन्की जान उन्के दोस्तो बस्ती है

 

चहत की ये काहे अफसाने हुई
ख़ुद नाज़्रों में आपनी बेगाने हुई
किसि बि रिस्ते कै ख्याल नहि मुजे
इश्क में तेरे हैं कादर दीवाने हुई

 

मुजे नहि पात की मुख्य उस्की
ज़िन्दगी में अहम हु हु
नाही लेकिन आई होप की जब मेन
मारु ते उस्की आंखें मैं आंसु
हो और वो मुजसे के उथ ना यार मजक मात कर

 

चांद को दीखकर भी सुभा न होति,
डार का पिंजर बन गया, मेरा सुन जान,
किटनी भी दुआ करो अब, रब से मेरे मन,
ज़िन्दगी चटपटी है, पर रिहा नहीं होटी,

चांद को दीखकर भी सुभा न होति,
बेबसी का आलम बिकरा है सर जान मैं,
कोई भी आवाज़ दे अब, मन को तस्ली न,
इस् त्रा जी रा हू तन, अब सुभा न होति,

 

मन ही हमलाट सी मजबुर रहते है
फ़िर भी तेरे ख्यालों में मेरे चूर रह गए हैं
आखों में रेहती है तश्वीर तुमहारी
क्या हुआ हम तुम दरवाजे-दरवाजे वाली है

 

तेरे सिन से लगकर तेरी आरजू बन जाए
तेरी सोंसो सी मिल्कर तेरी ख़ुशबु बान जौन
फस्ले ना रहे को हम दोनो के दरमियान
मुख्य, मुख्य ना राहु बस “तुम” बन जाए … !!

<< – << – << ♥ >> – >> – >>

इश्क तुझसे कार्ति हूं मुख्य जिंदगी से जियादा,
मुख्य दरी नहि मुत से तेरी जुदाई से जियादा,
चहे तो आजमले मुजे कैसी और ज़ायदा,
मेरी ज़िन्दगी में कुछ ना तेरी मोहब्बत से ज़ायदा

<< – << – << ♥ >> – >> – >>

रूथ जौ कितना भई मन लागे,
दुर जौ कितना भई तुला लंगे
दिल आखीर दिल है सागर की रिट टू नी
की नाम लख कर उससे मीता डेंगें ..!

<< – << – << ♥ >> – >> – >>

क्यु तुझिको देखना चहती एच मेरी आंखे
क्यूँ खामोशिया कृती है बिस तेरी बेटीन,
क्यौ इतना चहने लग हम तुझको मुख्य
की तारे गीनते हुए कैट-तइ है मेरी रातिन

<< – << – << ♥ >> – >> – >>

अगार भुले से कभी हमरी याद आटी हो ।।
और तन बदन मैं एक सिहरन सी दाउद जाती हो ।।
को मेरे सनम तुम मेरे पास चले आना ।।
आगर सूनी सूनी राते तुम बहत सती हो

+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button
Close