page contents
Sad Shayari

Maut Shayari in Hindi Best 500+ Death Shayari

Maut Shayari

+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0

Maut Shayari is about death in love. Read here our latest collection of maut shayari containing death shayari in hindi Sad Death SMS, Shayari On Maut  मौत शायरी

Maut Shayari

Blue Dynamic Fitness Youtube Thumbnail 1 - Maut Shayari in Hindi Best 500+ Death Shayari
Maut Shayari

प्रेम और मृत्यु 2 बिना बुलाए मेहमान हैं
वे कब आएंगे किसी को नहीं पता
लेकिन दोनों का प्रभाव समान है
एक दिल लेता है और दूसरा उसकी धड़कन लेता है।

 

क्या मैं हूं चलूंगा मुख्य तू जान चोर है
के शायद मेरा मरना हाय कुच्छ कहम आयगा
शयाद चली आये तू हम पल महसूद दाउदकर
जीस पल तेरे पासे मेरी मौ का पैगाम आयागा ..!

 

कहानी का अंत
जीवन के अंत की तरह नहीं होना चाहिए।
क्योंकि प्रेम की मृत्यु
इसे सुखद अंत नहीं कहा जा सकता

 

इक तम होइ जस पीर भए नाद
इक मुख्य हू जीस या कुच्छ यद नाही
ज़िन्दगी मौते के लिए तराने है,
इक तुम ये नाद ik मुजे यद नि

 

जस दिन मेरि अरथी है दुनीया सी विदा होगि
एक अलग साम होआ इक अलग बाट होगि
कहेना हम बेवफा से मेरी शादी तुम चारे वाले
अब ना हम हैं न हमरी बातिन होगी।

 

कीतनी असनि से वो ठुकरा गइ मुजे
आंसु बन के अँख से तपका गइ मुजे
कैस ये प्यार कासा फरेब था
मंज़िल दीक्षा के जो राह से भटका गइ
अंग्रेजी शायरी

 

खामोश मुहब्बत का एहसस है वो
मेरे ख्वाहिश मेरे जज्बात है वो
अकार ये ख्याल क्यूं है ऐ दिल है मुश्किल
माई, मेरी पहल खोज या आखिरी तराश है वो।
अंग्रेजी शायरी

 

मन कुच्छ है तराह से ख़ुद को सम्भाला है
तुझ भुलाने को दुनीया का भरम पाला है
आब किसि से मुहब्बत मेन कर नहि पात
इसे सांचे मेरे इक बेवफा न मुजे ढाला है
अंग्रेजी शायरी

Shayari on Maut and Zindagi

तेरी आंखें मैं सच्ची का एक दिन दीखते हैं,
तू है मोहब्बत का दीवाना ऐ दिल है मुश्किल देई है
माने के ठोखर खाय है ज़माना मेरे बेवफा से
पार तू आशिक है तुझमे मोहब्बत की चह दीखई देति है
अंग्रेजी शायरी

 

दीन राते हम हर का लख लेत हैं
तेरी याद मुझे गुजरी हर शाम लख लेतें हैं
तुझ देखे बीना एक पल भी काट-ता न
ऐकेले मैं हाथेली पे तेरा नाम लख लेत हैं
अंग्रेजी शायरी

 

राते होति है हर शम के बाड,
तेरी याद आती है हर बात की बात,
हमने खामोश रह कर भी दे खा है,
तेरी अवाज आटी है मेरी हर सन्स के बड़।

ज़िन्दगी राज़ है तो रज़ रेने दो,
एगर ह कोइ एतराज से ऐतराज़ रेने दो,
पार आगर आप दिल का है याद करो को,
To Dil Ko Ye Mat Kehna Ki Aaj Rehne Do

 

“Maut Shayari”

हमने कौन से मत दे खो ख्वाब हमरे,
तुमने फिर भी ख्वाबो माई बसया हमको,
कर ख़ुद की मोहब्बत को बुलंद जारा,
और किस्मत के पन्नो से चुरा लो हमको।

 

हर सुभ तेरी दूनिया मैं रोशनी कर दे,
रब तेरे गम को तेरी ख़ुशी कर दे
जब भई तोतेने लगे तेरी सैंस,
खुदा तुझमे शमील मेरी ज़िन्दगी कर दे।

 

आज पियारी सी सुभा बोली,
उत देख क्या नजारा है,
मैना कह रूक प्लीज़ यूज़ मैसेज भेजी दू,
जो इशे सुहा से भी पियारा है।

 

क्या नशा है इश्क आज तक नहीं न पे हम,
अन नशिली अंखो मुझे काही हो ना जायेंगे गम,
यूं से इश्क समाज न आता नजना क्या है तेरा,
के जुदा होन पे उके ये अखे हो गइ है।

अपना हमसफर बन ले मुजे,
तेरा ही साया हुआ अपना ले मुजे,
ये रात का सफर या भी हसीन हो जाए,
तू आ जा मेरे सपनो मैं या बुला ले मुजे।

 

तूं मुजे काभी दिल से ।।
कभी आंखो से पुकारो,
ये हँतो के तबस्सुम को ।।
जमने के लिए है।

 

तेरी आंखे समुंदर की ताराह गहरी हैं सती ।।
यूं तेना आना है मुजको बराबर ।।
उनम दब जने क मझ कुच्छ और है।

 

आदी राते को सपना आ जात है,
फेर सोना मुसकिल हो जात है,
खुदा की कसम यारो मेरा प्यार नहीं किया,
ये प्यार तू अपना हो गया है …

 

चंद बोली,
राते बोली तन्हा,
और तन्हा मेरी ज़ात है,
फिर तोते के ये आप,
अजिबे दिसंबर के तुम हो गए।

 

बहूत अज़ीब है ये बंदे मोहब्बत की ।।
ना हम न कायद मे रक्खा ।।
ना हम फरार हुये।

 

तेरा ही इश्क है मेरी बंदगी…
मुजे और कुच से खबार न्ही ।।
तुझ देख कर देखुं और काहिन ।।
आब मेरे पास वो नज़र नाही .. !!!

 

याद अप को कुच्छ है, तेरते हैं,
की एपी की यादों में हाय हो गई है,
कब गुर्गी जाति हैं दिन और दर,
फेर भई आप के खायलो में जगते ही हाय सोये रहतें हैं।

 

दोस्ती करी हमे सिखो,
दिल के किस ने मुझे भी बोली,
हम तुमरे दिल में क्या है,
ज़ुबान से ना साही एसएमएस से बतो

 

भीगी पलकों के संग मुसकराते हैं हम,
पाल पाल दिल को कुछ और बहलाते हैं,
तू द्वार है हम से लेकर दिलबर,
हर साँसों में तेरी आहट पाटे हैं हम।

 

सुन्न ई ज़िन्दगी मुशकिलों के सदा ह दे,
ठक न सते हम फुर्सत के कुच पाल दे,
दुआ है दिल से सबको आजाद,
aur ek behatar kal de।

गुजरी हुइ ज़िन्दगी को कब यार ना कर,
तक्दिर मेरे जो लिहा है हमें फरियाद ना कर,
जो होगा वो होकार,
तू कला की फिकर मुझसे अपना आज की है बरबाद न कर! ✍📕

 

मैय्या ज़िन्दगी के बडल गे अब तक,
काइ आपन बडल गइ अब,
कटे बाट अनंधियोन में सठ दीन की ।।
हव चलि अउ सब मुख गइ अब। 😔

 

सब के दिलो का अहसास अलाग होता है,
है दूनिया में सब काहे प्यार अलग होत है,
आंखें सब का है जय हो ही होई है,
बराबर सब का देखने का और आलम का हो गया है! ✍

 

मेरी ख़ामोशी थी जो सब कुछ है,
usaki yaaden हाय अब दिल पतला है गे,
थी शयाद usaki bhi कोई मजबोरी,
जो मेरी ज़िन्दगी क्या कहनी अधूरी है रे गाई !!

 

“Maut shayari on love”

नन्हे से क्या दिल में है अरमान कोई,
दुनिआ के दाउद भईद मैं पेहचान कोई रोकना,
अछि नहि लागे जे रहैत हो उदास,
हुनतो पे सदा मुसकान वही राखा में।

नाहन मंगता ई-खुदा की जिंदगी 100 साल की,
दे भले चंद लमहो की मागर कमल की डे।

 

कादर कर लो अनक्की जो,
बीना मतलाब की चाट कराटे है,
दुनिआ में खयाल राखेने वाले के,
और तकलीफ़ नेने वेले जियादा होते है! ✍ ✍

सफ़र जिंदगी का बहोत ही हसीन है,
सब का कोई ना कोई ऐसी बात है,
केसी के पास मंजिल है तो राही नहीं,
Aur Kisi Ke Pas Raah Hai To Manjil Nahi 🚶🍂

 

जौब uska बैंड है, मेरा देखा बैंड है,
काइ दीनो सी ज़िंदगी से बोल-चल बैंड है!

ऐ ज़िन्दगी देख तुझ है बाता रहे हैं ।।
आखों मुख्य समुंदर रो कर भी हम मुस्कुरा रहे हैं!

 

वक़्त को अब लफ़्ज़ो में दीया जटा है,
रगरु ते महज दीखवा किआ जात है। 😔

कदमो की दुरी से दिलो के फस्ले नहीं बद्दते,
डर होन से इहसास न मार्टे,
कुच कदमो का फस्ला हाय साही हमरे बीच,
लइकन आइसा कोइ पाल न जाबे हम अपको याद नहीं क्रते ।।

 

“Maut Shayari in Hindi”

उमर की रह गई रस्ते बादल जाट है,
वक़्त की आनन्दी मैं इन्सान बादल जाट है,
सोचे है तुम इतना याद ना करे लेकिन,
अँख बाँध कटे ही आयड़ बादल जाटे है।

 

तुम पुछते हो दिल क्यूं भरता है आहे मेरा,
हम कहे हैं कोइ इसको भी समझौता दे,
एकर तुम ही पुछ लो जो तुम जानना चाहते हो,
की क्या है ये शाद तुम कुछ भी मत दे।

 

मोहब्बत और कैसी सी भी हो गई है जामें में दोस्तो,
जरुरी नहीं की हसीनो से ही प्यार किया जाता है,
आंखें आंखें मैं भी हो जाती हैं बातिन काई अकार,
जरुरी नहीं हमेश आंखें से ही अजहर हो गया है।

 

लख कर्ता हुन कोशिश के ये ना आवे,
आ हाय जाति है कंभक्त याद आकि,
सरि सरि रत फिरि न देति है सों,
मेरे सनम प्यारी सी बात आप की।

 

एक आप के प्यार के खातिर सनम,
आप दीवाना हम क्या कर जायेंगे,
बस आप याद राखे अपना वडा,
हम तो सरे जहाँ से लाद जायेंगे।

अज हम्से वो दरवाजा है बहोत ये मन,
मगर यादों में हम अनक याद आते हैं,
अनसे सपनो मैं ही मिला दे एह मल्लिक,
बस हरदम हम याहि फरियाद कटे हैं।

 

सारी उमर आंखो में एक सपना,
याद राह,
सदियन बीट गायिन वो लम्हा,
याद राह,
जाने क्या बात है,
सारी महफ़िल भूल गइले बस वो पल,
याद राह।

Maut shayari

ए तेरी उमर मेन लिक दून चंड सितारन से,
तेरा जनम दिन मुख्य मनौ फूलन से बहारों से,
हर एक खोबसुर्ति दुनीया से मुख्य ले आऊ,
सगुन को याह मेफिल मुख्य हरसेन नजरन से।

 

सजीते रहिये खुशियों के मेफिल,
हर खुशी सुहानी राह,
आप जिंदगी में इश्क़ खुश होते हैं,
की हर खूशी आपकी दीवानी राहे।

 

सितारन से आवे भइ कोइ जहान होगे,
जहान के सारे नज़रों की कसम,
आसे पियारा वहाण भी ना होगे।

 

चाट के ये कैसी अफसाने हुई,
ख़ुद नाज़्रोन में अपणी बेगाने हुई,
केसी भी रिस्ते का ख्याल नहीं, मुजे
इश्क में तेरे हैं कादर दीवाने हुई।

 

खाट पाहली समाज कर माफ़ कर देना,
रह-ए-वफ़ा में हो जाए जो गुनाह हमसे,
मोहब्बत की हदीं प्यार कर गई है सनम,
फेर कैस है दिलबर ये परदे हम से।

 

क्या सेहले की साए ख्वाब तोते हैं,
और ये जिंदगी हम से रूठ जाए,
एक दोसरे के प्यार में खो गया है कादर,
के हम सारे गमन को भूल जईं।

 

Maut shayari

यादों के भंवर में एक पल हमरा,
खिलते चमन में एक गुल हमरा हो,
Aur Jab Yaad Kare Aap Apno Ko To Uss,
याद मैं एक नाम हमरा हो।

 

जान है मुजको जिंदगी से प्यारी,
जान के लिय कर दूँ कुर्बान यारी,
जान के लिय टोड दून दोस्ती तोहारी,
अब तुम क्या छूना,
तुम ही हो जा जान हमरी।

 

हमन चंद सी पूजा,
तेरी चंदनी का राज है,
चंद न आपकी तराफ़ इशरा,
कर के कह इन्हि पुचो जइसे,
देख कर मु य चमकट हं।

 

ना गिला करत है,
ना शिकवा करूँ,
तुम सलामत रहो आधार
याहि दुआ करत हम ।।

 

ठोकरे खते है और मुस्कुराते है,
क्या दिल को सब से कर्ण है,
हम तो डार लेकर भी याद आते हैं,
और कुच लोग दरद देकार भी भूल जते हैं ।।

 

सबने कहे इश्क दार है,
हमने काहे कादबुल है,
सबने काहे डर के, साथ नाही पोगे,
हमने काहे हैं डर के साथ मारना कबूल है।

 

काश तू मुजके खत लिखसे,
mujhme kya kya thi kami yeh to bata dete,
तडपते दिल से मेरे नफ़रत की,
नफ़रत की हाय मुजे क्या वज़ह से बाता है

 

रहत होगि ते चंद दुहाई देगा,
ख्वाबों में तुमको वो दोहरा दीखै,
ये मोहब्बत है ज़रा सोचे के,
इक आनसो भई गिरा से सुनै देगा।

 

इश्क़ वाले तू अँखो की बात समजे लेटे है,
सपनो मुझे मिल जाय तो मुल्कात समाज ले जाए,
रोटा से प्लाज्मा भी है प्यार के,
बराबर लॉग का उपयोग बारसात समाज लेटे है।

कसम खुदा की हमीं तुम प्यार नहीं है,
वो प्यार के तरफ़ बेकरार आज भी है,
मेरी वफ़ा का एतबार तुझे हो ना हो,
तेरी वफ़ा का ऐतबार हमीं आज भी है

 

वक़्त की और इही मुज़े दरवाज़े का दीदार,
तुम जी लो जी मात्र बिन कैसी और सहारे,
aur zindgi mujhe jeete ji marne ko majboor kar degi…।

 

एक रोज जाब वो मुजसे मिली से कौन लागे,
तुम यू उदास ना रहो करो मुजे अका नहीं लगता,
यारो, मेन टू यू सेन्ना भई ना के साका,
ये ओदासी से कब की गली गेली होटी…
जो मुजे तेरा साथ मिल गया हो …

 

लबो से चु कार करे निकम जान,
हाथोँ आप अपना इग पैगाम जाणे,
मेरी मुहब्बत को ठुकराया जो धुन,
Toe dosti ka nam dete jana।

 

Maut Shayari

मेरे जाने क्या, क्या,
फ़र्क से नै पडेगा,
बास तन्हाई हाय रोयेगी,
की मेरी हमसफ़र चल गई…।

 

हम नदान द जो हम को ।।
अपना हमसफर समाज बैथे,
वू चलते से हमरे तक,
magar kisi aur ki talash mein .. !!

 

तेरी मुहब्बत के प्यासे,
इसलिऐ हाथ फेला दीया,
खन्ना की,
ज़िन्दगी के कुछ लम्हे ना काटे…।

 

मुज़े मलूम है तुझे ख़ुश हो गया जुदाई से,
आब ख्याल राखे अपना,
तुम तो जाय नहीं कोई मिल जाए…।

 

ना मुसकुराने को जी चहता है,
ना आँसू बहाने को जी चाहता है,
लखुन से क्या लिखुन तेरी येद में,
बस तेरे पास लुटे अाने को जी चाहता है।

 

हर आशिक की इज्जत कहनी है,
चुप रहिये प्यार की निशानी है,
कोई ज़ख्म नहीं फ़िर भी मरता है एहसस है,
लागता है दिल का इक टुकरा आज भी हमारे पास है।

 

ज़िन्दगी न कुछ है तरु का रुख लिया,
जइसन जीस तराफ चाह मोद दीया,
जसको जितनी थी जरोरत साथ छला,
और फ़िर इक लम्हे में तन्हा चोद दिया।

+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button
Close